Kuch paresan ho jo.. Hindi poem



कुछ परेशान हो तो ,
छोटी सी बात भी ,
बड़ा असर कर  जाती है,
यू तो ,
हर चीज में बनावट है,
हर चीज में खोट है,
दिल पर क्यों लेते हो ,
जो आज है बड़ा मुद्दा ,
कल इतिहास बन जायेगा ,
हर चीज परतो  में दब जायेगी ,
सन्नाटे केवल साक्षी बचेगे ,
जब तक मुद्दे जिन्दा है,
दफन जब हो गये तो,
दिल लगाना आसान न होगा ,
वो समा ,
जब हर जिमेदारी पूरी होगी,
तो खुद भी अतीत न हो जाये ,
मुद्दे तो आते रहेगे ,
शायद असर कम हो जायेगा ,
मुद्दे पहले जेसे भडकते न लगेगे ,
दिल पर असर कम करेगे ,
शायद असर ख़त्म हो गया है,
हर बात इक सी लगती ,
न तो बहुत  ख़ुशी देती है,
न ही बहुत  गम देती है,
केवल एक बेकार की परेशानी है,
जो थोड़ी देर निभानी है। 


Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: